केरल में बाढ़ और बारिश का कहर जारी है। ज़ोरदार बारिश से अब तक तकरीबन 370 लोगों की जान जा चुकी है। बारिश की वजह से राज्य में अबतक 8000 करोड़ से ज़्यादा का नुकसान हो चुका है।

राहत कार्य के लिए सेना, नौसेना, वायुसेना, इंडियन कोस्टगार्ड और NDRF के जवान लगे हुए हैं। केरल के इस मुश्किल वक्त में देश और दुनियाभर से लोग मदद के लिए आगे आए हैं। सेलिब्रिटीज़ से लेकर आम आदमी तक बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए अपना योगदान दे रहे हैं।

इसी फेहरिस्त में एक नाम जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर मुकेश मिरोठा का भी जुड़ गया है। मिरोठा ने बाढ़ पीड़ितों की मदद की अपील करते हुए अपनी एक महीने की सैलरी दान देने का ऐलान किया है।

मिरोठा ने फेसबुक के ज़रिए कहा, “दोस्तों, केरल आज भयानक प्राकृतिक आपदा से जूझ रहा है। बारिश की वजह से आई बाढ़ ने वहाँ जिंदगी अस्त-व्यस्त कर दी है। सुंदर हरा-भरा राज्य अतिवृष्टि की चपेट में है। आइए, एक भारतीय होने का फर्ज़ निभाए। संकट की इस घड़ी में हमारी थोड़ी एवं छोटी सी मदद भी उनके लिए जीवनदायिनी साबित हो सकती है”।

उन्होंने आगे लिखा, “मैं अकिंचन देने के कुछ ज्यादा लायक तो नहीं लेकिन मैंनें अपने एक माह का वेतन केरल रिलीफ फण्ड में देने का निर्णय किया है। उम्मीद है, आप भी सहायता को आगे आयेंगे। मेरा केरल, मेरा भारत”।

बता दें कि केरल पिछले 100 सालों की सबसे भयंकर बाढ़ में डूबा हुआ है। अब तक इस विभीषिका में मरने वालों की संख्या तकरीबन 370 हो चुकी है। 8 अगस्त से अब तक यानी महज 12 दिनों में कुल 180 लोग बाढ़ के चलते जान गंवा चुके हैं। बाढ़ के चलते सूबे में करीब 2.23 लाख लोग और 50,000 परिवार बेघर हो गए हैं।

इस तबाही से फसल और संपत्तियों समेत कुल 8 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान हुआ है। सूबे में अब भी खतरा टला नहीं है क्योंकि राज्य की लगभग सभी नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं।