हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कश्मीर की लड़कियों को लेकर विवादित बयान दिया है। खट्टर ने कहा कि अनुच्छेद 370 के हटने के बाद अब कश्मीर से लड़कियों को शादी के लिए लाया सकता है।

फतेहाबाद में भगवान महर्षि भागीरथ जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में खट्टर ने कहा, ‘हमारे मंत्री ओपी धनखड़ अकसर कहते हैं कि वह बिहार से ‘बहू’ लाएंगे। इन दिनों लोग कह रहे हैं कि अब कश्मीर का रास्ता साफ हो गया है। अब हमलोग कश्मीर से बहू लाएंगे।’

सीएम खट्टर के इस बयान पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने आप्त्ति जताई है। उन्होंने ट्विटर के ज़रिए कहा, “शर्म आनी चाहिए मनोहर लाल खट्टर को इस वाहयात बयान पे! सड़क छाप रोमीओ की भाषा मुख्यमंत्री बोल रहा है! महिला इनके लिए वस्तु है!”

मोदीजी, यूपी और महाराष्ट्र में धारा 370 नहीं है, फिर यहां युवा ‘बेरोज़गार’ क्यों है : राज ठाकरे

उन्होंने इस बयान के लिए सीएम के खिलाफ एफआईआर दर्ज किए जाने की मांग करते हुए कहा, “PM कश्मीर के लोगों को विश्वास दिलाने में लगे हैं कि पूरा देश उनके साथ है, तब ये नालायक़ CM अभद्र बातें कर हिंसा भड़का रहा है! इनपे हर हाल में FIR होनी चाहिए!”

इससे पहले बीजेपी विधायक विक्रम सैनी ने भी कश्मीरी लड़कियों को लेकर बेहद आपत्तिजनक बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि लोगों को खुश होना चाहिए कि वे अब बिना किसी डर के ‘गोरी’ कश्मीरी लड़कियों से शादी कर सकते हैं। यही नहीं, उन्होंने यह भी कहा था कि बीजेपी के कुंवारे नेता भी अब कश्मीर जाकर वहां प्लॉट खरीद सकते हैं और शादी कर सकते हैं।

यह पहली बार नहीं है जब सीएम खट्टर ने महिलाओं को लेकर विवादित बयान दिया है। पिछले साल भी रेप को लेकर खट्टर ने ऐसी बातें कहीं थीं, जिससे विवाद खड़ा हो गया था।

उस वक्त खट्टर ने कहा था, ‘सबसे बड़ी चिंता यह है कि ये घटनाएं जो हैं रेप और छेड़छाड़ की, 80 से 90 फीसदी जानकारों के बीच में होती हैं। काफी समय के लिए इकट्ठे (एकसाथ) घूमते हैं, एक दिन अनबन हो गई उस दिन उठाकर एफआईआर करवा देते हैं कि इसने मुझे रेप किया।’