दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में हो रही मतगणना ईवीएम में गड़बड़ी के चलते आज के लिए स्थगित कर दी गई है। बताया जा रहा है कि जब मतगणना स्थगित की गई तब एनएसयूआई के सन्नी छिल्लर अध्यक्ष पद पर और एनएसयूआई के ही आकाश चौधरी सेक्रेटरी पद पर आगे चल रहे थे।

एनएसयूआई के सदस्यों ने आरोप लगाते हुए कहा कि एबीवीपी अध्यक्ष पर पीछे चल रही है इसलिए प्रशासन रिजल्ट में छेड़छाड़ की कोशिश कर रहा है। बता दें कि मतगणना की शुरुआत ही बाधाओं के साथ हुई।

पहले तो मतगणना एक घंटे देर से शुरू हुई। बाद में डूसू के काउंटिंग सेंटर पर ईवीएम में गड़बड़ी को लेकर विवाद हो गया। छात्रों के बीच झड़प हुई। मतगणना केंद्र पर शीशे के दरवाजे तोड़े गए और जमकर हंगामा काटा गया।

50 सालों तक सत्ता में बने रहने का दावा करने वाली अहंकारी भाजपा EVM के भरोसे दम भर रही है : अखिलेश यादव

डूसू इलेक्शन ऑफिसर ने कहा कि दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनाव की मतगणना ईवीएम में गड़बड़ी और छात्रों के हंगामे के कारण स्थगित कर दी गई है। उन्होंने बताया कि मतगणना की तारीख का ऐलान अब बाद में किया जाएगा।

इस मामले के सामने आने के बाद आप नेता विपिन राठौर ने ईवीएम पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि जो ईवीएम एक विश्वविद्यालय का चुनाव नहीं करा पाया वो लोकसभा का चुनाव कैसे कराएगा।

69 % वोट पाने वाली पार्टियाँ EVM का विरोध कर रही हैं तो 31% पाने वाली BJP की मनमानी नहीं चल सकती

उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “जो एक विश्वविद्यालय का चुनाव जीतने के लिए लोकतंत्र व लोकतांत्रिक व्यवस्था को तार-तार कर सकता है वो लोकसभा चुनाव में क्या करेंगा अंदाजा लगाना सहज है और हाँ जब एक विश्वविद्यालय का चुनाव EVM से नहीं हो पाया तो देश का चुनाव क्या खाक होगा”।

बता दें कि बुधवार को हुए दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में करीब 44.46 प्रतिशत वोटिंग हुई। मतदान शांतिपूर्ण हुआ। कॉलेजों में 52 केंद्रों पर वोट डाले गए। डीयू में 1.35 लाख छात्र हैं। 23 उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा। चुनाव के लिए करीब 700 इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनें लगाई गईं थीं।